Menu

Dr. Deepti Priya 

Psychologist and Author



Blog Posts

Four confident elements to raise a successful child

“Education is not the amount of information that is put into your brain and runs riot there, undigested, all your life. We must have life-building, man-making, character-making assimilation of ideas” – Swami Vivekananda

 

Every parent desire their children to succeed. The term succe…

Read more

संबंधों में प्रतिबद्धता आवश्यक

पत्रिका–प्रेरणा अंशु


लेख– संबंधों में प्रतिबद्धता आवश्यक


अंक–मार्च २०२२


लेखिका– दीप्ति प्रिया…

Read more

प्यार की पहचान यही

पत्रिका – अहा जिंदगी


लेख– प्यार की पहचान यही


फरवरी अंक, पूरा आलेख भास्कर app और ऑनलाइन पत्रिका में उपलब्ध है.…

Read more

बच्चों के भी मानवाधिकार हैं

शीर्षक: बच्चों के भी मानवाधिकार हैं


लेखिका: डॉ दीप्ति प्रिया


पत्रिका: प्रेरणा–अंशु (दिसंबर २०२१ संस्करण)…

Read more

बच्चा कें भावनात्मक रूप सं सशक्त बनाऊ

 

लेख शीर्षक: "बच्चा कें भावनात्मक रूप सं सशक्त बनाऊ", 
लेखिका: डॉ. दीप्ति प्रिया
पत्रिका: "मिथिलांगन" (त्रेमासिक पत्रिका),  अप्रैल-सितंबर २०२१ संस्…

Read more

आत्मसम्मान: बच्चो में आत्म–विश्वास बढ़ने का महत्वपूर्ण घटक

 

शीर्षक: आत्मसम्मान: बच्चो में आत्म–विश्वास बढ़ने का महत्वपूर्ण घटक
लेखिका: डॉ दीप्ति प्रिया
पत्रिका: बालकिरण ए…

Read more

व्यक्तित्व के विकास का आधार

 

लेख शीर्षक: "व्यक्तित्व के विकास का आधार", लेखिका: डॉ. दीप्ति प्रिया
पत्रिका: "गौरवशाली भारत" (राष्ट्रीय मासिक पत्रिका),  सितंबर २०२१ संस्करण…

Read more

बच्चों में आत्मसम्मान बढ़ाएं

शीर्षक: बच्चों में आत्मसम्मान बढ़ाएं
लेखिका: डॉ दीप्ति प्रिया
पत्रिका: चित्रांगन (स्मारिका २०२१)

 


माता-पिता व परिजन की छोटी-बड…

Read more

विमोह’ अध्यात्म प्रधान भारतीय संस्कृति का संवाहक है, भावात्मक मनोवैज्ञानिक विश्लेषण का संग्राहक है।

डॉ दीप्ति प्रिया के आठ कविताओं का संग्रहविमोहअध्यात्म प्रधान भारतीय संस्कृति का संवाहक है, भावात्मक मनोवैज्ञानिक विश…

Read more

‘विमोह’ की कविताओं को पढ़कर मानव मन सहज ही उद्वेलित हो उठता है और अपने अतीत में घटित घटनाओं से अपने आप का सम्बन्ध की तरह अनुभूत कर उठता है।

विमोहकी कविताओं को पढ़कर मानव मन सहज ही उद्वेलित हो उठता है और अपने अतीत में घटित घटनाओं से अपने आप का सम्बन्ध की तरह अनुभूत कर उठता है।…

Read more

View older posts »

76663